योग स्क्वाट: लाभ और इसे कैसे करें

योग स्क्वाट: लाभ और इसे कैसे करें

अपने निचले शरीर को मजबूत बनाने के सबसे अच्छे तरीकों में से एक है स्क्वैट्स करना। आपको बस खड़ा होना है, फिर अपने कूल्हों को नीचे करना है और वापस खड़े होने की स्थिति में आ जाना है। यदि यह नीरस हो जाता है, तो आप स्क्वाट विविधताएं भी आज़मा सकते हैं। आप योग की दुनिया का भी पता लगा सकते हैं। मलासन या माला मुद्रा को योगी के स्क्वाट के रूप में जाना जाता है जिसमें आप घुटनों को पूरी तरह से मोड़ते हैं जब तक कि श्रोणि आपकी एड़ी के पीछे आराम न कर ले। लेकिन जो योग आसन आपके नियमित स्क्वैट्स के करीब है वह कुर्सी मुद्रा या उत्कटासन है। योगा स्क्वाट के फायदे जानने के लिए आगे पढ़ें।

वैश्विक अग्रणी समग्र स्वास्थ्य गुरु और कॉर्पोरेट जीवन कोच डॉ. मिकी मेहता का कहना है कि कम बैठने वाला योग आसन, उत्कटासन, एक शक्तिशाली आसन है। जब आपके पैरों और शरीर के अन्य निचले हिस्सों में मांसपेशियों के निर्माण की बात आती है, तो इसके कई प्रकार के फायदे हैं। भले ही यह चोट पहुंचा सकता है, यह आपके शरीर के अंगों को सुडौल और शारीरिक रूप से फिट रखने का एक अच्छा तरीका है। इसका मतलब है कि यह योग आसन शक्तिशाली है, तीव्र है और इसके लिए कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है।

स्क्वैट्स आपके निचले शरीर को मजबूत बनाने में आपकी मदद कर सकते हैं। छवि सौजन्य: एडोब स्टॉक

योग स्क्वैट्स और पारंपरिक स्क्वैट्स दोनों ही निचले शरीर पर काम करते हैं। लेकिन कुछ महत्वपूर्ण अंतर हैं:

• योग स्क्वैट्स का मुख्य लक्ष्य लचीलापन, स्थिरता और दिमागीपन को बढ़ाना है। दूसरी ओर, नियमित स्क्वैट्स पैर और ग्लूट ताकत विकसित करने के लिए एक लोकप्रिय शक्ति-प्रशिक्षण अभ्यास है।
• योग स्क्वैट्स में, सीधी पीठ रखना और धीमी, जानबूझकर सांस लेना महत्वपूर्ण है। नियमित स्क्वैट्स में मांसपेशियों की सक्रियता को अधिकतम करने के लिए अच्छे फॉर्म पर जोर दिया जाता है।

उत्कटासन या कुर्सी आसन कैसे करें?

यह मुद्रा वास्तव में बैठे बिना कुर्सी पर बैठने की स्थिति की नकल करने जैसा है।

• अपने पैरों को एक साथ मिलाकर सीधे खड़े हो जाएं और अपने हाथों को ऊपर उठाएं।
• श्वास लें, अपने घुटनों को मोड़ें और बैठ जाएं।
• सांस छोड़ें फिर धीरे-धीरे ऊपर जाएं।

डॉ. मेहता कहते हैं कि एक बार में चार या पांच से अधिक गिनती न करें।

योगा स्क्वाट के क्या फायदे हैं?

चाहे आप प्राकृतिक रूप से लचीले हों या नहीं, स्क्वाट योग करें क्योंकि इसके कई फायदे हैं।

1. योगा स्क्वाट से कूल्हे की गतिशीलता बढ़ती है

यह कूल्हे की गतिशीलता और लचीलेपन को बढ़ाने का एक शानदार तरीका है। नियमित रूप से इस स्थिति को धारण करने से आपके कूल्हे के जोड़ों को अधिक स्वतंत्र रूप से चलने में मदद मिलेगी। यह उन लोगों के लिए विशेष रूप से फायदेमंद है जिनके कूल्हे एक गतिहीन जीवन शैली के कारण तंग हैं या डेस्क पर बैठकर बहुत समय बिताते हैं।

2. योगा स्क्वाट शरीर के निचले हिस्से में मांसपेशियों की ताकत बनाता है

योग स्क्वाट निचले शरीर में क्वाड्रिसेप्स, हैमस्ट्रिंग और पिंडली की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। एडक्टर्स और ग्लूट्स भी लगे हुए हैं, इसलिए यह आपके सामान्य निचले शरीर की ताकत को बढ़ा सकता है। यह चलने, दौड़ने के साथ-साथ अच्छा पॉश्चर बनाए रखने के लिए भी जरूरी है।

3. योगा स्क्वाट से कोर ताकत में सुधार होता है

जितना अधिक समय आप इस मुद्रा को धारण कर सकेंगे, आपका कोर उतना ही मजबूत होगा और सहनशक्ति में सुधार होगा। यह आपके आसन को बेहतर बनाने और आपकी समग्र शारीरिक क्षमताओं और सहनशक्ति को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

स्क्वाट
योगा स्क्वाट के कई फायदे हैं। छवि सौजन्य: शटरस्टॉक

4. योगा स्क्वाट पीठ दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकता है

पीठ दर्द होना काफी आम है, खासकर दूर से काम करने के समय में। उत्कटासन का अभ्यास पीठ दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकता है, क्योंकि यह आपकी पीठ और रीढ़ पर काम करता है और रक्त परिसंचरण में सुधार करता है।

5. मानसिक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य के लिए योग स्क्वाट

योग आसन आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर बहुत प्रभाव डालते हैं और यही बात उत्कटासन के बारे में भी कही जा सकती है। इसका नियमित रूप से अभ्यास करने से तनाव कम करने और प्रेरणा और सकारात्मकता की भावना लाकर आपके दिमाग को ऊर्जावान बनाने में मदद मिल सकती है। यह मानसिक शांति विकसित करने में मदद कर सकता है, जिससे काम पर आपका ध्यान बेहतर होगा।

6. संतुलन और फोकस के लिए योग स्क्वाट

योग स्क्वाट में संतुलन बनाने के लिए एकाग्रता और दिमागीपन की आवश्यकता होती है, इसलिए नियमित अभ्यास आपके संतुलन और मानसिक फोकस को बढ़ा सकता है। यह योग में विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह वर्तमान में रहने और आपकी समग्र मानसिक स्पष्टता में सुधार करने में मदद कर सकता है।

7. योग स्क्वाट पैर की मांसपेशियों को आकार देता है

जब आपको उठकर काम पर जाना हो तो पैरों में दर्द और थकान एक बड़ी बाधा हो सकती है। इस स्थिति में उत्कटासन आदर्श समाधान हो सकता है। कुर्सी की स्थिति में बैठने से पैरों की मांसपेशियों पर काम होता है जिससे उनकी ताकत और परिसंचरण बढ़ता है।

(टैग्सटूट्रांसलेट) योग स्क्वाट के फायदे (टी) योग स्क्वाट के स्वास्थ्य लाभ (टी) योग स्क्वाट पोज के फायदे (टी) योग स्क्वाट पोज के फायदे (टी) योग स्क्वाट (टी) हेल्थ शॉट्स
Read More Articles : https://newsbank24h.com/category/health-and-wellness/

Scroll to Top